कूच बिहार ट्रॉफी में कुछ करने को तैयार SSPF के नेशनल क्रिकेट कैंप के चार होनहार

 

कहते है मेहनत इतनी खामोशी से करो की सफलता शोर मचा दे। भारत जैसा देश जो मैजूदा समय में एक स्पोर्टिंग नेशन के रूप में एक अलग मुकाम हासिल कर चुका है उस देश में खिलाड़ियों के सफलता के पीछा की कहानी हमेशा इतनी सुहानी नहीं होती जितना प्रत्यक्ष रूप से हमे सामने दिखाई पड़ती है। सभी खिलाड़ी की कहानी में कुछ ना कुछ दिलचस्प बात होती है जो आपको प्रेरित करती है।

स्कूल स्पोर्ट्स प्रमोशन फाउंडेशन के अंतर्गत होने वाली स्कूल्स इंडिया कप के तीसरे सीजन के लिए रेजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया जारी है जिसके लिए आप इस लिंक  http://bit.ly/sspfregister पर जा सकते है। एसएसपीएस से परे भी देश भर में विभिन्न जगहों पर अलग अलग खेल की एक्टिविटीज जारी है। इसी कड़ी में आज हम आपको बताने जा रहे दिलचस्प कहानी राजस्थान के उन 4 युवा क्रिकेटर्स की जो मौजूदा समय में स्कूल्स इंडिया कप के क्रिकेट नेशनल कैंप में अनुभवी भारतीय टीम के पूर्व कोच संजय भारद्वाज जी के अंडर क्रिकेट की गूर सीख रहे है।

आपको बता दें कि राजस्थान के इन 4 युवा क्रिकेटर्स के सपनो ने उड़ान भरने की शुरुआत कर दी है। इन चारों का चयन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा आयोजित कराए जाने वाली अंडर-19 कूच बिहार ट्रॉफी के लिए राजस्थान की जिला स्तरीय टीम के लिए हुआ है। ये 4 खिलाड़ी हैं सोनाराम जट और भव्य गोयल राजस्थान के भीलवाड़ा जिला से सबंध रखते है, जबकि निखित शुक्ला और हितेश पटेल जो उदयपूर जिला से सबंध रखते है। तो चलिए बात करते है इन 4 युवा क्रिकेटर्स से और जानते है उनके बारें में…

– अंडर-19 कूच बिहार ट्रॉफी के लिए अपने जिला के लीग मैचों की टीम में चयनित हुए निखिल शुक्ला जो एक तेज गेंदबाज हैं उनसे हमने पूछा उनके अबतक के सफर के बारे में …

निखिल- क्रिकेट में अबतक मेरा सफर उम्मीद के मुताबिक काफी अच्छा रहा है। मैं भाग्यशाली रहा हूं की खेल में आगे बढ़ने के लिए मुझे जिन सुविधाओं की जरूरत थी वो मुझे मिली और आज मेरा चयन बीसीसीआई के अंडर होने वाले घरेलू स्तर के अंडर -19 क्रिकेट टूर्नामेंट कूच बिहार ट्रॉफी के लिए हुआ। मैं इससे पहले अंडर-14, अंडर-16 और अंडर 19 टीम में राजस्थान की तरफ से खेल चुके है।

– हितेश पटेल जो की टीम में एक ऑलराउंडर की भूमिका निभाते है उनसे हमने पूछा राजस्थान के अपने जीला स्तरीय टीम में चयन होने पर कैसा लग रहा है?

हितेश- मैं क्रिकेट को जीता हूं और इसी का नतीजा है कि मेरी लगातार मेहनत रंग लाई और मेरा चयन अंडर-19 कूच बिहारी ट्रॉफी के लिए हुआ। हां अपने खेल के दौरान मैं इंजरी की वजह से कुछ समय के लिए मैं खेल से दूर जरूर रहा लेकिन क्रिकेट के जूनून ने मुझे आत्मविश्वास दिया और मैंने मैदान पर वापसी की। मैं मानता हूं कि कोई भी काम नामूमकिन नहीं है जरूरत है तो बस मेहनत और लगन की जो आपको एक ना एक दिन साकारात्मक नतीजा जरूर देती है। मैं युवराज को अपना आइडल मानता हूं और भविष्य में उनकी ही तरह खुद को एक ऑलराउंडर के तौर पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नाम कमाना चाहता हूं।

– भव्य गोयल जो एक विकेटकीपर बल्लेबाज है उनसे हमने अबतक के क्रिकेटिंग के बारे में पूछा

भव्य – सबसे पहले तो मैं एसएसपीएफ को धन्यवाद देना चाहुंगा की वो देश में खेल को बढ़ावा देने के लिए प्रयासरत है। मैंने भीलवाड़ा से अंडर-14 और अंडर 16 खेला है। हालांकि मुझे क्रिकेट की बारिकियों को तराशने में अभी काफी समय लगेगा लेकिन मुझे यकीन है कि अगर मेहनत और लगन के साथ अपने प्रदर्शन पर काम करता रहूं तो आगे और अच्छा करूंगा।

 

– सोनाराम जट हैं वो चौथे खिलाड़ी जिनका चयन जिला के लीग मैचों के लिए हुआ है, हमने उनसे पूछा उनके पिछले उपलब्धियों के बारे में..

सोनाराम – मैं टीम में बल्लेबाज की भूमिका निभाता हूं और मुझे खुशी है कि मेरा चयन बीसीसीआई द्वारा आयोजित कराए

जाने कूच बिहर ट्रॉफी के लिए अपने राज्स की तरफ से हुआ है। मैंने इससे पहले राजस्थान टीम की तरफ से अंडर -14 और अंडर-16 टीम में भी खेला है। साथ ही इसके पिछले साल भी मैं स्कूल्स इंडिया कप द्वारा आयोजित कराए जाने वाले नेशनल क्रिकेट कैंप का हिस्सा था। मुझे खुशी है एसएसपीएफ स्कूल स्पोर्ट्स को बढ़ावा दे रहा है और हम जैसे युवाओं को इसका काफी लाभ मिल रहा है। 

 

जाहिर है कि स्कूल स्पोर्ट्स प्रमोशन फाउंडेशन भारत को एक स्पोर्टिंग नेशन बनाने के लिए अग्रसर है और अगर ऐसे ही देशभर के छोटे छोटे प्रांत और शहर में अपनी कोशिश को सफल बनाने में लगा रहा तो भविष्य में सिर्फ क्रिकेट ही क्यों बल्कि अन्य खेलों में भी अच्छा कर सकेगा।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + five =