ये हैं SSPF नेशनल क्रिकेट कैंप के 3 होनहार भावी क्रिकेटर्स

एसएसपीएफ के अंतर्गत आयोजित होने वाली स्कूल्स इंडिया कप के 7 दिवसीय नेशनल क्रिकेट कैंप जारी है, जहां देशभर के अलग अलग राज्य के विभिन्न जिलों से कुल 33 खिलाड़ी प्रशिक्षण ले रहे है। इन 33 खिलाड़ियों में हमने खोज निकाला है उन तीन होनहार खिलाड़ियों को जिन्हें आने वाले भविष्य में हम एक अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी के रूप देख सकते है।

इन खिलाड़ियों को ट्रेन करने का जिम्मा उठाया है बीसीसीआई लेवल-3 के अनुभवी कोच श्री संजय भारद्वाज जी ने जिन्होंने भारतीय क्रिकेट को गौतम गंभीर,अमित मिश्रा, नीतीश राणा, उन्मुक्त चंद जैसे अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी दिए है। यानी संजय भारद्वाज जी के रिकॉर्ड बुक्स को देखते हुए ये कहना गतल नहीं होगा कि उन्होंने अपने कोचिंग के दौरान जिन खिलाड़ियों पर अपनी कृपादृष्टी बरसाई है उनका भविष्य उज्जल है। इसका नतीजा हम सबके सामने है। और हो सकता है कि आज हम आपको जिन खिलाड़ियों के बारे में बता रहे वो भी आने वाले समय के गौतम गंभीर, अमित मिश्रा और उन्मुक्त चंद हो।

इस कड़ी में हमने बात की झारखंड के बोकारो जिले से सबंध रखने वाले एक युवा क्रिकेटर्स से। बोकारो स्टील सिटी जिसे मुख्य रूप से झारखंड की शैक्षिक राजधानी के नाम से जाना जाता है। लेकिन जिस तरह से देश में खेल का विकास हो रहा है वो दिन दूर नहीं जब बोकारो को दुनिया के एक स्टार क्रिकेटर की वजह से जानेगी। वो भावी क्रिकेटर है बोकारो के गाजी जफर। जी हां 2014 से क्रिकेट खेल रहे लेफ्ट आर्म स्पिन गेंदबाज गाजी जफर देहरादून में चल रहे नेशनल क्रिकेट कैंप में क्रिकेट की बारिकियां सिख रहे है।

हमने उनसे जब ये पूछा कि अनुभवी कोच श्री संजय भारद्वाज से उनकी पहली मुलाकात कैसी रही… इसपर गाजी ने कहा… संजय सर के सिखाने के तरीका अलग है। वो हर बच्चे के प्रदर्शन पर पैनी नजर बनाए रखते है और उनकी कमियों पर काम करने के लिए प्रोत्साहित करते रहते है। गाजी आगे कहते है कि, मैं भाग्यशाली हूं कि मुझे एसएसपीएफ के जरिए संजय सर के सिखने का मौका मिला।

गाजी से उनके क्रिकेटिंग करियर के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि 2014 से वो लगातार क्रिकेट से जुड़े हुए है। पिछले साल हुए स्कूल्स इंडिया कप के डिस्ट्रिक्ट लेवल के साथ साथ स्टेट लेवल के मैचों में गाजी का प्रदर्शन सराहनीय रहा है। साथ ही इसके गाजी बोकारो डिस्ट्रिक्ट टीम की तरफ से भी खेल चुके है।

गाजी भारतीय क्रिकेट के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक और झारखंड के शान महेंद्र सिंह धोनी को अपना आइडल मानते है और उनकी तरह क्रिकेट में नाम कमाना चाहते है। खेलों को बढ़ावा देने के एसएसपीएफ के इस मूहीम स्कूल्स इंडिया के बारे में पूछे जाने पर गाजी ने कहा कि, खिलाड़ियों के खेल के स्तर को बढ़ाने और भविष्य के लिए देश को अच्छे खिलाड़ी दिलाने के लिए एसएसपीएफ एक अच्छी पहल है।

“Mahendra Singh Dhoni is my idol!” Gazi Jafar. Click here http://bit.ly/2tv7wI9 o listen to Gazi Jafar’s experience at at the Schools India Cup- Season 2 National Camp at Selaqui International Dehradun

——————————————————————————————————

हमारे क्रिकेट नेशनल कैंप में एक खिलाड़ी है जिनकी कहानी बड़ी दिलचस्प है। पंजाब के लुधियाना जिले से सबंध रखने वाले नरेन रंजन शर्मा तेज गेंदबाज है। नरेन से जब हमने पूछा कि संजय भारद्वाज जी से पहली बार मिलने का उनका अनुभव कैसा रहा? इसपर नरेन कहते है संजय जी बहुत अनुभवी और बड़े कोच है और हर बच्चे पर एक समान ध्यान देते है। वो हमारी गलतियों को उसी समय बता देते है और उसको ठीक करने की सलाह देते है और हमेशा प्रेरित करते है।

नरेन से उनके क्रिकेटिंग करियर के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने अपने शुरुआत के दिनों की एक दिलचस्प कहानी हमारे साथ साझा की। नरेन ने कहा कि, ‘वो जब 9वीं कक्षा में थे तब से क्रिकेट खेलने की शुरुआत की। हालांकि उस समय मेरा प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा, इतना की मैं टीम में जगह बनाने तक में भी कामयाब नहीं हो पा रहा था। ऐसा इसलिए भी था क्योंकि मैं काफी अनफिट था। तब मेरे टीम के कोच ने मुझे बताया कि मुझे अपनी फिटनेस पर काम करने की जरूरत है। इसके बाद मैंने लगातार अपनी फिटनेस पर काम किया।

नरेन आगे कहते है कि उन्हें प्रैक्टिस करने के लिए किसी साथी खिलाड़ी की जरूरत नहीं थी बल्कि वो अकेले ही ग्राउंड में जाकर अपने फिटनेस के स्तर को बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास करते रहे और नतीजा ये रहा कि वो उनकी फिटनेस तो ठीक हुई लेकिन टीम में जगह बनाने में वो तब भी असफल रहे। इसके बाद उन्हें इंजरी और बैकपेन की भी समस्या हुई और एक समय ऐसा भी था जब उन्होंने अपने करियर के पहले कैंप लुधियाना डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट कैंप उन्होंने पेन कीलर लेकर पूरा किया। इसके बाद लगातार कोशिश से उन्होंने अपने गेंदबाजी में सुधार की।

नरेन कहते है ‘गेंदबाजी पर काम करने साथ मैंने बल्लेबाजी करना भी सीखा क्योंकि मुझे लुधियाना डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट टीम में अपनी जगह पक्की करनी थी। मेरी मेहनत रंग लाई और आज के समय में मैं अपनी टीम का मुख्य खिलाड़ी है जो गेंदबाजी के साथ साथ बल्लेबाजी में भी टीम को अहम योगदान देता है।

नरेन को कई लोगो ने क्रिकेट छोड़ने की सलाह भी दी क्योंकि ये एक मंहगा खेल है लेकिन ये नरेन का क्रिकेट के प्रति जनून ही है जो उन्हें आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है। विराट कोहली और जो रूट को अपना आदर्श मानने वाले नरेन को यकीन है कि वो अपनी मेहनत से भविष्य में क्रिकेट के खेल में भारत का नाम जरूर रौशन करेंगे।

“After loosing often, I have now learnt to win.” Naren Ranjan Sharma. Click here http://bit.ly/2KcC9cv to listen to Naren Ranjan Sharma’s experience at at the Schools India Cup- Season 2 National Camp at Selaqui International Dehradun

——————————————————————————————————————

तीसरे खिलाड़ी हमने जिनसे बात की वो है उत्तराखंड के हरिद्वार जिले से सबंध रखने वाले अमनदीप सिंह टीम में गेंदबाज की भूमिका में रहते है। संजय भारद्वाज जी से पहले कोचिंग के अपने अनुभव को साझा करने के सवाल पर अमनदीप ने बताया कि संजय भारद्वाज सर जैसे अनुभवी कोच के साथ क्रिकेट की गुर सिखने का अनुभव अच्छा रहा। वो बच्चों के साथ उन्हीं के स्तर की मेहनत करते और लगातार प्रोत्साहित करते है ताकि इस कैंप के दौरान कम से कम दिनों में हमें ज्यादा से ज्यादा ट्रेन कर सकें।

अमनदीप ने अपने अबतक के क्रिकेटिंग करियर के बारे में बताया कि वो हरिद्वार में अपनी स्कूल की टीम डीपीएस की तरफ से खेलते है और शुरुआती दिनों में उन्होंने स्कूली क्रिकेट पर ज्यादा ध्यान दिया और अब जब उन्हें एसएसपीएस जैसे प्लैटफॉर्म के बारे में पता चला है जहां पिछले साल उनका प्रदर्शन नेशनल लेवल पर शानदार और 3 मैच में उन्होंने 12 विकेट झटके थे। इस साल उनका चयन स्कूल्स इंडिया कप के नेशनल कैंप के लिए हुआ है।

भारतीय क्रिकेट में अमनदीप रविंद्र जडेजा को अपना आइडल मानते है जबकि विदेश में एबी डीविलियर्स उनके पसंदीदा खिलाड़ी है। एसएसपीएफ क मंच स्कूल स्पोर्ट्स को बढावा देने के लिए बहुत उम्दा मंच है जहां अंडर-16 तक के उम्र के खिलाड़ियों अपने टैलेंट को निखारने का सुनहरा अवसर मिला है।

“I want to be the next Ravindra Jadeja.” Amandeep Singh. Click here http://bit.ly/2Kh1wNp to listen Amandeep Singh’s experience at the Schools India Cup- Season 2 National Camp at Selaqui International Dehradun

खिलाड़ियों के बात करने के बाद इतना तो साफ है कि आज की युवा पीढ़ी किसी भी क्षेत्र में सफलता का परचम लहरा सकती है जरूरत है तो बस उनके एक पहल और मौके की और खेल के क्षेत्र में हम देशभर के युवाओं को स्कूल्स इंडिया कप के जरिए इसी मौके से अवगत करा रहे है।

स्कूल इंडिया कप के तीसरे सीजन की ऑनलाइन रेजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के लिए इस लिंक पर क्लिक

करें http://bit.ly/sspfregister

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − five =